उदयपुर में तालिबानी हत्या:शहर में कर्फ्यू, राजस्थान में इंटरनेट बैन; NIA और SIT की टीम पहुंची; भाजपा ने बंद बुलाया

उदयपुर में दर्जी की तालिबानी तरीके से हत्या के बाद पूरे शहर में पुलिस तैनात कर दी गई है। 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू है। राजस्थान में ऐहतियातन 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। एक महीने के लिए धारा 144 लागू की गई है। धारा 144 लागू होने के बावजूद भाजपा ने बंद बुलाया है। मृतक कन्हैयालाल साहू का पोस्टमॉर्टम हो चुका है। अंतिम संस्कार से पहले उनका पार्थिव शरीर घर ले जाया गया है।

हत्या के दो आरोपियों गौस मोहम्मद और रियाज जब्बार को अरेस्ट कर लिया गया है। NIA और SIT इनसे पूछताछ के लिए उदयपुर पहुंच चुकी है। पूछताछ के बाद NIA जांच अपने हाथ में ले सकती है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- क्या प्लान और षड़यंत्र था? किससे लिंक है? अंतरराष्ट्रीय लिंक है क्या? इन सभी बातों का खुलासा होगा। कुछ असमाजित तत्व हैं, जब तक वे न जुड़े तब तक ऐसी घटना नहीं होती। इस एंगल से भी जांच जारी है।

उधर, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी कन्हैयालाल के परिजनों से मिलने उदयपुर पहुंचे। उन्होंने कहा- सरकार का इंजिलेन्स फेल्योर है। अपराधियों में अब भय नहीं रहा।

इधर, कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार को लेकर उनके परिवार और पुलिस के बीच विवाद हो गया। पुलिस ने कहा कि घर के पास ही अंतिम संस्कार कर दिया जाए। परिवार और समाज शहर के सबसे बड़े अशोक नगर श्मशान में अंतिम संस्कार की मांग कर रहे थे। हालांकि बाद में समाज की मांग पर पुलिस ने अशोक नगर श्मशान घाट पर अंत्येष्टी की मंजूरी दे दी।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया मृतक के परिजनों से मिलने अस्पताल पहुंचे।

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया मृतक के परिजनों से मिलने अस्पताल पहुंचे।

सीएम ने हाई लेवल मीटिंग बुलाई

सीएम अशोक गहलोत भी तीन दिन के जोधपुर दौरे को बीच में छोड़ जयपुर के लिए रवाना हो गए हैं। जयपुर पहुंचने के बाद सीएम ने हाई लेवल बैठक बुलाई है। इसमें प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर रिव्यू करेंगे। बैठक में सीएस, डीजीप, होम और पुलिस डिपार्टमेंट के सभी अधिकारी मौजूद रहेंगे।

उदयपुर के महाराणा भूपाल सिंह अस्पताल की मॉर्च्यूरी में पोस्टमार्टम किया गया।

उदयपुर के महाराणा भूपाल सिंह अस्पताल की मॉर्च्यूरी में पोस्टमार्टम किया गया।

टेलर कन्हैयालाल साहू की मंगलवार दोपहर दुकान में घुसकर निर्मम हत्या की गई थी। आरोपियों ने इस वारदात का वीडियो भी बनाया और प्रधानमंत्री मोदी को भी धमकी दी। परिजनों ने हत्या के बाद कुछ मांग रखी थीं। परिजनों को 31 लाख रुपए और दोनों बेटों को भी नौकरी का आश्वासन दिया गया है। लापरवाही बरतने के लिए धानमंडी थाने के एएसआई भंवरलाल को निलंबित कर दिया गया है।

देर रात करीब 10 बजे परिवार और प्रशासन में सहमती बनी। इसके बाद बॉडी को मॉर्च्यूरी में लाया गया।

देर रात करीब 10 बजे परिवार और प्रशासन में सहमती बनी। इसके बाद बॉडी को मॉर्च्यूरी में लाया गया।

नाप देने के बहाने दुकान में घुसे थे हमलावर

इससे पहले दोनों हमलावर कपड़े का नाप देने के बहाने मंगलवार को कन्हैया की दुकान में घुसे थे। इसके उन्होंने बर्बर तरीके से उसकी हत्या कर दी थी। इससे उदयपुर में पूरे दिन माहौल तनावपूर्ण रहा। हत्याकांड के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए थे। मामले से गुस्साए लोगों के प्रदर्शन के दौरान कई बार प्रदर्शनकारियों की पुलिस से भी झड़प हुई। उदयपुर का पूरा प्रशासनिक अमला मौके पर डटा रहा।